विद्युत सुरक्षा पोस्टर

 

विद्युत से होने वाले खतरे को विद्युत सुरक्षा पोस्टर के माध्यम से समझ सकते है। क्योंकि विद्युत से होने वाले खतरे में कोई भी बीच का रास्ता नहीं होता अगर सुरक्षा से कोई समझौता हुवा तो इसमें आपकी जान का खतरा होता है इसमें आपकी जान भी जा सकती है।

इलेक्ट्रिसिटी क्या है

इलेक्ट्रिसिटी एक प्रकार का बल है जो दिखाई नहीं देता है परंतु इसका अनुभव, हम घटनाओं तथा प्रयोगों के माध्यम से कर सकते है।

बिजली पदार्थ के आधारभूत कण परमाणु का अंग है। इस प्रकार परमाणु के अंदर इलेक्ट्रॉनों के असंतुलन के कारण किसी भी प्रकार की लगाई गई ऊर्जा विद्युत ऊर्जा में बदल जाती है।

विद्युत (electricity) का उपयोग अस्पतालों में, कंप्यूटर टेक्नोलॉजी, छोटे बड़े उद्योगों, अनुसंधान के कार्य, और घरेलू उपकरण में बहुत ज्यादा हो रहा है या आप ये भी कह सकते है की विद्युत के बिना कुछ भी नहीं हो सकता।

बिजलीजो की हमें स्वाभाविक रूप में प्राप्त होता है इसी कारण से इसे “खोजा” गया था, न कि “आविष्कार” किया गया था।

इसे भी पढ़े:-

1- फ्यूज का उपयोग क्यों आवश्यक है?

2- रेजिस्टेंस को कैसे मापा जाता है?

विद्युत सुरक्षा पोस्टर

विद्युत सुरक्षा पोस्टर

 

विद्युत सुरक्षा पोस्टर में में जो चित्र दिए दिखाए गए है उनको देखकर हम यदि किसी व्यक्ति को इलेक्ट्रिक शॉक लगा है तो उसकी जान बचा सकते है।

तो हम उस व्यक्ति को किस प्रकार से प्राथमिक चिकित्सा दे जिससे उस व्यक्ति की जान को बचाया जा सके। जैसे मुँह से मुँह लगा कर सांस देना आदि।

बिजली की बचत से होने वाले फायदे।

यदि हम बिजली की बचत करेंगे तो बिजली की कमी नहीं होगी, और जब बिजली की कमी नहीं होगी तो बिजली की कटौती भी नहीं होगी।

जब बिजली की बचत होती है तो दूसरे राज्यों से हमें महगी बिजली खरीदनी नहीं पड़ती। इससे कार्बन के उत्सर्जन में भी कमी आएगी और इस प्रकार से ग्लोबल वार्मिंग की समस्या से निपटने में मदद मिलेगी।

इसके साथ -2 बिजली की कीमत नहीं बढेगी।

इलेक्ट्रिक शॉक के कारण

बिजली के वायर, घर में प्रयोग होने वाले उपकरण, मशीन को सप्लाई देने वाला वायर अगर खुला है और यदि उसे कोई छूता हैं तो उसे इलेक्ट्रिक शॉक लग जायेगा।

विद्युत का झटका कितना गंभीर होता है यह इस पर निर्भर करता है कि वह शॉक किस तरह का है और उसमें कितना वोल्टेज है।

इलेक्ट्रिक शॉक की वजह से शरीर जल भी सकता है या शरीर पर हमेशा के लिए निशान रह जाता है। जब इलेक्ट्रिक करेंट शरीर में से गुजरती है।

इससे आंतरिक क्षति भी पहुंचता है कुछ मामलों में हाई वोल्टेज का इलेक्ट्रिक शॉक लगने पर व्यक्ति की मौत भी हो जाती है। शरीर में करेंट पास होने की वजह से मौत या गंभीर नुकसान होने को इलेक्ट्रोक्यूशन कहा जाता है।

इलेक्ट्रिक शॉक के लगने पर चाहे गंभीर रूप से लगा हो या मामूली आपको डॉक्टर के पास जरूर जाना चाहिए। गंभीर इलेक्ट्रिक शॉक की स्थिति में तुरंत उपचार की जरूरत होती है।

इलेक्ट्रिक शॉक के लिए प्राथमिक उपचार

अगर घर के बिजली के उपकरण जैसे मिक्सर, ओवन आदि से किसी तरह का मामूली इलेक्ट्रिक शॉक लगता है तो इलाज की जरूरत नहीं है।

लेकिन यदि वोल्टेज ज्यादा है तो इलेक्ट्रिक शॉक की वजह से गंभीर रूप से घायल होने पर तुरंत डॉक्टर से इलाज की जरूरत होती है।

यदि किसी को हाई वोल्टेज इलेक्ट्रिक शॉक लगता है तो उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती कराए।

अगर किसी को गंभीर इलेक्ट्रिक शॉक लग गया है तो उसकी सहायता करते से पहले आपको कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

  • जिस व्यक्ति को शॉक लगा है उसे छुए नहीं, क्योंकि उसे छूने से आपको इलेक्ट्रिक शॉक लगेगा।
  • यदि हाई वोल्टेज तार या उपकरण से करेंट लगा है तो तुरंत अस्पताल के इमरजेंसी नंबर पर फोन करें।
  • इलेक्ट्रिक शॉक यदि किसी ऐसे स्रोत से लगा है जिसका स्विच बंद नहीं है तो आप तुरंत स्विच ऑफ कर दें, यदि ऐसा नहीं है तो किसी लकड़ी, कार्डबोर्ड या प्लास्टिक की सहायता से सप्लाई के वायर को पीड़ित व्यक्ति से अलग करें।
  • विद्युत सप्लाई से पीड़ित व्यक्ति को अलग करने के बाद पहले उसकी नाड़ी चेक करें कि वह सांस ले रहा है या नहीं। यदि उसकी सांस धीरे-2 चल रही है तो उसे तत्काल मुंह से मुँह द्वारा सांस देने की जरूरत है।
  • पीड़ित व्यक्ति के जले हुए कपड़े या जले हुए स्थान को बिलकुल भी न छुए।

क्या इलेक्ट्रिक शॉक का प्रभाव अधिक समय तक रहता है?

कुछ इलेक्ट्रिक शॉक का प्रभाव आपके स्वस्थ्य पर लंबे समय तक रहता है, जैसे गंभीर रूप से जलने पर शरीर पर स्थायी निशान बन जाता है।

यदि इलेक्ट्रिक शॉक आपकी आंखों से होकर गुजरता है, तो आपकी आँखो में मोतियाबिंद हो सकता है। कभी-2 इलेक्ट्रिक शॉक की वजह से दर्द, झुनझुनी, अंग सुन्न होने या मांसपेशियों की कमजोरी हो सकती है।

इसे भी पढ़े:-

1- कैपेसिटर की गणना कैसे करे?

मनुष्य के शरीर का प्रतिरोध

  • सुखी त्वचा पे  →  100,000 Ohms
  • गीली त्वचा पे →  1000 Ohms

Electrical accidents के प्रमुख कारण क्या हैं?

  • लूज कनेक्शन।
  • फेज से फेज का छू जाना।
  • फेज से अर्थ वायर का छू जाना।
  • इलेक्ट्रिकल कार्य में ओवर कॉन्फिडेंस।
  • चालू सप्लाई में काम करना।
  • मशीन के जानकारी के बिना उस पर काम करना।

Electrical Safety rules

  • जांच लें की इक्विपमेंट में सही अर्थिंग है या नहीं।
  • केवल authorized व्यक्ति ही बिजली का काम करे।
  • चालू सप्लाई में कनेक्शन न करे।
  • जितना हो सके कम voltage पर ही काम करे।
  • हर एक distribution board में  RCCB का प्रयोग करे।
  • सर्किट को कभी ओवरलोड ना करें।
  • बिजली सप्लाई के साथ न खेले।
  • Insulated tools का ही प्रयोग करे।

LOTO सिस्टम क्या होता है?

LOTO सिस्टम क्या होता है

Lock out और Tag Out (LOTO SYSTEM) किसी संस्थान के अंदर सुरक्षित रूप से काम करने का एक माध्यम है

जो यह सुनिश्चित करता है कि company के अंदर जो machine है,खराब होने की स्थिति में है वह तब तक start न किया जाए जब तक maintenance या repair का काम खत्म न हो जाये।

Lock Out-

यह एक प्रकार का लॉक होता है सभी प्रकार के इलेक्ट्रिकल इक्विपमेंट को isolate करके उस फीडर पर एक लॉक लगा कर बंद कर दिया जाता है और उसके ताले की चाबी जो उस मशीन पर काम कर रहा व्यक्ति है उसे दे दिया जाता है।

इससे जब तक वह व्यक्ति काम को पूरा नहीं कर लेगा तब तक वह ताले की चाबी नहीं देगा और जब तक चाबी नहीं देगा तब तक सप्लाई को ऑन नहीं किया जा सकेगा। यह सभी इलेक्ट्रिकल उपकरण के लिए अलग-2 होता है।

Tag Out-

जब फीडर पर लॉक लग गया तो उसके बाद उस पर एक “work in progress” का एक टैग लगा दिया जाता है जिससे कोई भी जब उस फीडर को ऑन करने आएगा तो वह “work in progress” का टैग देख कर उस फीडर को ऑन नहीं करेगा।

Earthing क्या है और यह किसलिए प्रयोग किया जाता है?

Earthing क्या है

Earthing का मतलब यह होता है की विभिन्न प्रकार के उपकरणों जैसे फ्रिज, लाइट, फैन, चार्जर, डिस्ट्रीब्यूशन बोर्ड आदि को एक कॉपर वायर के माध्यम से जमीन से जोड़ना।

ताकि किसी भी प्रकार के फाल्ट की स्थिति में उत्पन्न होने वाले लीकेज करंट को सीधे अर्थ में भेजा जा सके और किसी भी प्रकार का खतरा होने से बच जाए। यह एक प्रकार का प्रोडक्शन सिस्टम ही है जो हमें सदैव Safe करता है।

अर्थिंग के फायदे

अर्थिंग करने से सबसे बड़ा फ़ायदा मशीन और मनुष्य की सेफ्टी होती है अर्थिंग करने से हमें निम्न लाभ होते हैं।

  1. जब किसी भी इलेक्ट्रिक उपकरण की अर्थिंग करते हैं तो उस उपकरण का जो बाहरी भाग (धातु से बना) है जिस पर सामान्यतः विद्युत आवेश नहीं रहना चाहिए लेकिन अगर किसी फाल्ट के कारण उस पर विद्युत आवेश आ जाता है। तो अर्थिंग कनेक्ट होने से वह लीकेज करंट सीधे अर्थिंग वायर के माध्यम से जमीन में चला जाता है। जिससे उसके बाहरी वाले भाग में इलेक्ट्रिक करंट ख़तम हो जाता है और बिजली का झटका लगने से बच जाता है।
  2. जब हम वैद्युत उपकरणों का अर्थिंग करते हैं तो उस उपकरण का बाहरी वाले भाग का विभव (voltage) हमेशा अर्थ के विभव के बराबर यानी कि जीरो रहता है। वैद्युत का शॉक लगने का कोई खतरा नहीं रहता है।
  3. अर्थिंग करने के बाद जब फाल्ट की स्थिति आती है तो उस समय लीकेज करंट अर्थिंग के द्वारा सीधे जमीन में चली जाती है जिसके कारण विद्युत सिस्टम में लगे लीकेज रिले, फ्यूज, एमसीबी(MCB) आदि अच्छे ढंग से काम करता है और विद्युत सप्लाई को ट्रिप करा देता है।

Electrical Safety Poster पर लिखे स्लोगन

सावधानी हटी,
बिजली दुर्घटना घटी।

बिजली के तारों की सुरक्षा है जरूरी,
नहीं तो दुर्घटना होगी बहुत भयंकर।

बिजली के कटे-फटे तार तुरंत बदलें
और अपना और अपनों का जीवन बचाएं।

Electrical Safety Poster को देखकर करेंगे काम
तो कभी नहीं होगा बिजली से नुकसान।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने विद्युत सुरक्षा को विद्युत सुरक्षा पोस्टर के माध्यम से समझा है विद्युत के काम में सुरक्षा बहुत ही आवश्यक है अगर आप इस काम में सुरक्षा से समझौता करते है तो इससे न केवल उपकरण को नुकसान होगा बल्कि मनुष्य के जान को भी खतरा रहेगा।

नोट- यह भी पढ़े।

1- आईटीआई में एनसीवीटी और एससीवीटी क्या है?

2- आग के खिलाफ सबसे अच्छा बचाव कौन सा है?


अब भी कोई सवाल आप के मन में हो तो आप इस पोस्ट के नीचे कमेंट करके पूछ सकते है या फिर इंस्टाग्राम पर rudresh_srivastav” पर भी अपना सवाल पूछ सकते है।

अगर आपको इलेक्ट्रिकल की वीडियो देखना पसंद है तो आप हमारे चैनल target electrician  पर विजिट कर सकते है। धन्यवाद्

विद्युत सुरक्षा पोस्टर से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर (Mcq)-

1- आप बिजली से अपनी सुरक्षा कैसे करेंगे?
अपने घर में RCCB जरूर लगवाएं इसके साथ-2 बिजली के सभी उपकरण को बच्चों की पहुंच से दूर रखें। गीले हाथों से विद्युत के उपकरणों को न छुए बिना जूता चप्पल पहले विद्युत के उपकरण को न छुए।

2- विद्युत सुरक्षा का सबसे महत्वपूर्ण नियम क्या है?
किसी विद्युत उपकरण पर काम करने से पहले उसकी विद्युत सप्लाई बंद कर दें और दूसरा प्रत्येक विद्युत उपकरण की अर्थिंग होना अनिवार्य है।

3- तीन विद्युत सुरक्षा उपकरण कौन से हैं?
फ्यूज, सर्किट ब्रेकर, ग्राउंड फ़ॉल्ट सर्किट इंटरप्टर्स ये सभी महत्वपूर्ण विद्युत सुरक्षा उपकरण हैं।

4- बिजली कैसे बचाते हैं?
स्टार रेटिंग के विद्युत उपकरणों का उपयोग करें इसके साथ-2 उनकी स्टार रेटिंग अधिक से अधिक होनी चाहिए, BLDC पंखों, एलईडी बल्ब का उपयोग करें, लाइट वा उपकरणों की जरूरत ना हो तो उसे बंद कर दें।

5- बिजली से लगी आग को कैसे बचाएं?
विद्युत से लगी आग को बुझाने के लिए CTC, CO2 के फायर एक्सटिंग्विशर का उपयोग करें। कभी भी विद्युत से लगने वाली आग को पानी से ना बुझाएं।

मेरा नाम आर के श्रीवास्तव है इस ब्लॉग में आपको इलेक्ट्रीशियन ट्रेड से संबंधित सभी प्रकार की रोचक जानकारी मिलेगी, जिससे आप रोज नई-नई जानकारी सीख पाएंगे। आपके मन में किसी भी प्रकार का कोई भी प्रश्न/कंफ्यूजन है तो उसे कमेंट सेक्शन में जाकर जरूर कमेंट करे मैं जल्द से जल्द उस प्रश्न/कंफ्यूजन का उत्तर दूंगा और आपकी कंफ्यूजन को दूर करने का पूरा प्रयास करूंगा। धन्यवाद्